Sports News

आईपीएल रद्द करने का दबाव बढ़ा, कई फ्रेंचाइजी मालिक भी बीसीसीआई से कर चुके हैं यह मांग

Published By Bharat Malhotra | एजेंसियां | Updated:

नई दिल्ली

दुनिया का सबसे बड़ा खेल आयोजन तोक्यो ओलिंपिक्स-2020 कोविड महामारी की भेंट चढ़कर एक साल के लिए टल चुका है और अब भारत में क्रिकेट का सबसे बड़ा क्रेज ‘इंडियन प्रीमियर लीग’ (आईपीएल) भी इसी की राह चल चुका है। कोरोना वायरस से निबटने के लिए देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के बाद अब बीसीसीआई पर आईपीएल को रद्द करने का दबाव बढ़ गया है।

15 अप्रैल तक किया था स्थगित

बीसीसीआई ने इस महीने की शुरुआत में आईपीएल को 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया था। उस वक्त बोर्ड ने कहा था कि टूर्नामेंट की मेजबानी केवल स्थिति में सुधार होने पर किया जाएगा। लेकिन इसमें सुधार होने की जगह स्थिति और गंभीर हो गई जहां भारत में इस वायरस की चपेट में 500 से ज्यादा लोग आ गए हैं। बीसीसीआई प्रेजिडेंट सौरभ गांगुली ने एक रोज पहले कहा था कि गंभीर स्थिति को देखते हुए उनके पास इस मामले पर कहने के लिए कुछ नहीं है। गांगुली ने कहा था, ‘मैं फिलहाल कुछ नहीं कह सकता। हम उसी स्थान पर हैं जहां हम इसे सस्पेंड करने वाले फैसला लेते समय थे। पिछले 10 दिनों में कुछ भी नहीं बदला है। ऐसे में मेरे पास इसका कोई जवाब नहीं है। यथास्थिति बनी हुई है।’

वाडिया की राय

किंग्स इलेवन पंजाब के को-ओनर नेस वाडिया इस मुद्दे पर ज्यादा साफगोई दिखाई है। उन्होंने कहा, ‘बोर्ड को वाकई आईपीएल को अब स्थगित करने पर विचार करना चाहिए। एक प्रमुख खेल आयोजन के तौर पर हमें बड़ी जिम्मेदारी के साथ काम करने की जरूरत है।’ उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा, ‘मई तक स्थिति में अगर सुधार होता है और मुझे आशा है कि ऐसा होगा तो भी हमारे पास कितना समय रहेगा। लेकिन क्या तब भी विदेशी खिलाड़ियों को देश में प्रवेश करने की अनुमति होगी/’ इससे पहले मंगलवार को बोर्ड ने अधिकारियों और फ्रेंचाइजी मालिकों की कॉन्फ्रेंस को स्थगित कर दिया गया था।

अब भी है आस!

ग्लैमर और चकाचौंध से भरी आठ टीमों की यह टी20 लीग मूल रूप से 29 मार्च को मुंबई में शुरू होने वाली थी। ऐसा लग रहा है कि बीसीसीआई को अब भी स्थिति में सुधार की संभावना दिख रही है, इसीलिए वह अभी तक कोई फैसला नहीं कर पा रहा है। इस मामले से जुड़े बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, ‘अगर ओलिंपिक्स को एक साल के लिए स्थगित किया जा सकता है, तो आईपीएल उस लिहाज से बहुत छोटा टूर्नामेंट है। इसे आयोजित करना मुश्किल होता जा रहा है। हमें यह भी सोचना चाहिए की अभी सरकार विदेशी वीजा की अनुमति देने के बारे में भी विचार भी नहीं कर रही।’

“21 दिन के लॉकडाउन के बाद भी अब यह लगभग असंभव सा होगा की चीजें सामान्य हों। लॉकडाउन हट गया तो भी 14 अप्रैल के बाद भी बहुत सारे प्रतिबंध जारी रहेंगे। ऐसे में लीग को रद्द नहीं करना मूर्खता ही होगी।”-बीसीसीआई के एक अधिकारी



इंडोर वर्कआउट रूटीन


लॉकडाउन में टीम इंडिया के क्रिकेटर्स भी घर पर हैं। लेकिन, टीम के स्ट्रैंग्थ ऐंड कंडीशनिंग कोच निक वेब ने फिजियो नितिन पटेल के साथ मिलकर खिलाड़ियों के लिए इंडोर वर्कआउट प्लान तैयार किया है जिससे सभी फिट रहें। सूत्र ने बताया, ‘सभी खिलाड़ियों को एक विशेष फिटनेस रूटीन दिया गया है जिसे वो मानेंगे और वेब तथा पटेल को जानकारी देंगे। बोलर्स को वो एक्सरसाइज दी गई हैं जिससे उसकी कोर और लोअर बॉडी मजबूत होगी। इसी तरह बल्लेबाज को वो एक्सरसाइज दी गई हैं जिससे उसके कंधे, कलाई मजबूत होंगी।’

आईसीसी की विडियो कॉन्फ्रेंसिंग

इंटरनैशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के सदस्य देश शुक्रवार को एक विडियो कॉन्फ्रेंस करेंगे जिसमें दुनियाभर में लगे ट्रैवल प्रतिबंधों के मद्देनजर आईसीसी की आगामी प्रतियोगिताओं को लेकर आपातकालीन योजना पर विचार-विमर्श किया जाएगा। इस साल अक्टूबर महीने में ऑस्ट्रेलिया में टी20 वर्ल्ड कप होना है जबकि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के तहत देशों को एक-दूसरे के खिलाफ श्रृंखलाएं खेलनी हैं, लेकिन मौजूदा हालात में इन कार्यक्रमों को रीशेड्यूल करने की जरूरत पड़ सकती है। आईसीसी के एक बोर्ड मेंबर ने हालांकि साफ किया कि शुक्रवार की विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कोई निर्णय नहीं लिया जाना है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close