Education news

कोरोना वायरस लॉकडाउन में हो रहे हैं बोर? IIT ने स्टूडेंट्स को सुझाया न्यूटन वाला आइडिया

देश में तेजी से फैले रहे कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोक लगाने के लिए तमाम शिक्षण संस्थानों में कक्षाएं निलंबित कर दी गई हैं। अब सवाल है कि इस लॉकडाउन की स्थिति में स्टूडेंट्स घर पर बैठकर क्या करें? आईआईटी गांधीनगर ने इस दिशा में एक शानदार पहल की है। देश के प्रतिष्ठित तकनीकी शिक्षण संस्थानों में से एक आईआईटी गांधीनगर ने अपने स्टूडेंट्स से कहा है कि वह इस दौरान उसी तरह नई नई स्किल्स सीखें जिस तरह महान वैज्ञानिक आईजैक न्यूटन (Issac Newton) ने ऐसी ही स्थिति में वर्क फ्रॉम होम के दौरान सीखी थी। 1665 में जब लंदन में प्लेग महामारी बुरी तरह फैली थी, तब आईसैक न्यूटन कैंब्रिज के ट्रिनिटी कॉलेज (कैंब्रिज) में पढ़ते थे। तब भी सरकार ने महामारी को फैलने से रोकने के लिए स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए थे। न्यूटन ने घर पर रहकर तरह तरह के कई सफल एक्सपेरिमेंट किए थे। 

कोरोना वायरस के चलते आईआईटी गांधीनगर में 31 मार्च तक कक्षाएं निलंबित कर दी गई हैं। स्टूडेंट्स घर पर बोर न हों, इसके मद्देनजर संस्थान ने प्रोजेक्ट आईजैक (Project Isaac) शुरू किया है। संस्थान की योजना है कि इस प्रोजेक्ट के जरिए स्टूडेंट्स नई नई स्किल्स सीखें जिसका उन्हें भविष्य में लाभ हो। 

आईआईटी गांधीनगर के निदेशक सुधीर के. जैन ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘यह प्रोजेक्ट आईसैक न्यूटन से प्रेरणा प्राप्त है जिन्हें 350 वर्ष पहले इसी तरह महामारी फैलने के चलते ट्रिनिटी कॉलेज ने घर पर भेज दिया था। तब 1665 में 22 साल के न्यूटन ने घर पर रहकर ही अर्ली कैलकुलस, थ्योरी ऑफ ऑप्टिक्स, थ्योरी ऑफ ग्रेविटी समेत कई गंभीर व महत्वपूर्ण खोजें की थीं।’

UPSC ने टाले IES और ISS 2020 परीक्षाओं के नोटिफिकेशन

उन्होंने कहा, ‘मैंने सभी स्टूडेंट्स और फैकल्टी सदस्यों को न्यूटन से सीख लेने के लिए कहा है। कोरोना वायरस की वजह से उन्हें मजबूरन जो समय घर पर बिताना पड़ रहा है, उसका इस्तेमाल उन्हें चमत्कारिक खोजों में करना चाहिए।’ 

जैन ने स्टूडेंट्स से कहा है कि वह इस ब्रेक का इस्तेमाल बुद्धिमानी से करें। स्टूडेंट्स इस दौरान अपनी स्किल्स चमकाएं। राइटिंग, पेंटिंग, म्यूजिक, कोडिंग और क्रिएटिव चीजों में खुद को लगाएं। 

कोरोना वायरस के कारण यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा के इंटरव्यू स्थगित

उन्होंने कहा, ‘जब संस्थान खुलेगा, तो घर पर रहकर किए गए स्टूडेंट्स के सबसे क्रिएटिव वर्क्स को पुरस्कृत किया जाएगा।’

संस्थान ने स्टूडेंट्स को बिजी रखने के लिए “12 days of code”, लीडरशिप वीडियो चैलेंज, ‘Don’t Quarantine Your Cornia! जैसे प्रोग्राम भी शुरू किए हैं। लीडरशिप वीडियो में स्टूडेंट्स को लीडरशिप के वीडियो पर 50-100 शब्द लिखने होंगे। Don’t Quarantine Your Cornia! प्रोग्राम में स्टूडेंट्स को अपनी पसंद के विभिन्न टीवी शो, मूवी, डॉक्यूमेंट्री या वेब सीरीज का रिव्यू लिखना होगा।



Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close