Health News

कोरोना से ही नहीं, इससे बचना भी है जरूरी, कहीं न पड़ जाएं लेने के देने


कोविड-19 के अलावा जिस एक चीज से इस समय देश का अधिकांश हिस्सा दो चार हो रहा है वह है लू. गर्मियों में चलने वाली गर्म हवाओं को लू कहते हैं लेकिन तकनीकी रूप से यदि लू के बारे में बताएं तो उत्तरी भारत में पूरी गर्मियों में उत्तरी-पूर्वी और पश्चिम से पूर्व दिशा में चलने वाली गर्म शुष्क हवाओं को लू कहा जाता है. तेज लू न सिर्फ पेड़ पौधों और पशु पक्षी के लिए घातक साबित होती है बल्कि लोगों के लिए भी जानलेवा साबित होती है.

अगर समय रहते लू लगे इंसान का इलाज न किया जाए तो इससे मृत्यु भी हो सकती है. यदि दिन में मौसम का तापमान 40 डिग्री या इससे अधिक रहेगा तो यह बेचैनी तो पैदा करेगी ही.

आइए पहले जानें कि लू से बचने के लिए क्या करना चाहिए-
कोशिश करें कि दोपहर 12 से 4 बजे के बीच घर से बाहर न ही निकलें. यदि आप ऑफिस में हैं तो ध्यान रखें कि इस दौरान टी-ब्रेेक लेने के लिए या किसी और छोटे-मोटे कारण से बाहर न निकलें. यदि बाहर जाना ही पड़ रहा हो तो सर पर सूती का कपड़ा कुछ इस तरह लपेट कर जाएं कि कान भी कवर हो जाएं.

अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें. हल्का और सुपाच्‍य भोजन खाएं, दिन में थोड़ा-थोड़ा बार- बार खा सकते हैं लेकिन एक साथ अत्याधिक भोजन न करें. तरबूज, खीरा, ककड़ी, अंगूर, खरबूज जैसे फलों का सेवन करें. शिकंजी पिएं, शरबत का सेवन भी करें. शरीर में पानी की कमी न हो इसके लिए इलेक्ट्रॉल जैसे ओआरएस अपने पास रखें और यदा कदा पानी में घोलकर पी लिया करें.

प्यास न लगे तब भी पानी पीते रहें. शरीर में पानी की कमी न होने दें. कम से कम 4 लीटर पानी 24 घंटे में जरूर पिएं. यदि आप किडनी की समस्या से पीड़ित हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर पानी पीने के बारे में तय करें. क्योंकि, किडनी की किसी किसी बीमारी में अधिक पानी पीने को लेकर एहतियात की सलाह दी जाती है.

ये भी देखें….

यदि आप लो या हाई ब्लड प्रेशर के पेशंट हैं तो ध्यान रखें कि आपका प्रेशर सामान्य बना रहे. यानी, ब्लड प्रेशर में किसी भी प्रकार का फ्लक्चुएशन आने लगे तो डॉक्टर द्वारा बताई गई दवा लें और पानी के इंटेक पर ध्यान दें.

एकदम सर्द- गर्म ट्रीटमेंट लेने से बचें. एकदम धूप से आने के बाद बहुत अधिक ठंडा पीने या खाने से बचें. हां, अपने होठों और आंखों को नम रखें. आंखों में ठंडे पानी के छीटें मारें.

कच्चे प्याज का सेवन भी अधिक से अधिक करना चाहिए. खाने में तो करें ही, जब आप घर से बाहर निकलें तब कच्चा प्याज काटकर जेब में रखें.



Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close