Health News

क्या यूरिन से भी संक्रमण फैल सकता है, एक्सपर्ट का जवाब- अभी ऐसे प्रमाण नहीं मिले और न ही ब्लड या खाने की चीज से कोई खतरा है


  • जो पहले से बीमार हैं उन्हें अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है क्योंकि उनमें संक्रमण का खतरा अधिक है
  • फल, सब्जी को सैनेटाइजर से बिल्कुल न धोएं, इसे केवल नल के बहते पानी से धोएं या हल्का गर्म पानी उस पर डालें

दैनिक भास्कर

May 22, 2020, 03:41 PM IST

नई दिल्ली. बारिश में संक्रमण का कितना खतरा है, क्या लॉकडाउन के ढील देने पर कोरोना के मामले बढ़ सकते हैं, कोरोना के लक्षण बदल रहे हैं इसे कैसे समझें…ऐसे कई सवालों के जवाब आरएमएल हॉस्पिटल, नई दिल्ली के विशेषज्ञ डॉ. एके  वार्ष्णेय ने आकाशवाणी को दिए। जानिए कोरोना से जुड़े सवाल और एक्सपर्ट के जवाब…
#1) कोमोरबिडिटी क्या है और इससे वायरस का संक्रमण कैसे बढ़ रहा है?
कोमोरबिडिटी से मतलब है कि जिन्हें पहले से कोई गंभीर बीमारी है, जैसे डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, अस्थमा, एचआईवी, कैंसर और फेफड़े से जुड़ी समस्या। ऐसे लोगों में इम्युनिटी कम हो जाती है। इनमें जब संक्रमण होता है तो वायरस गंभीर रूप से अटैक करता है। वायरस उनके फेफड़ों तक पहुंच जाता है और उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। इसमें ज्यादातर बुजुर्ग और प्रेग्नेंट महिलाएं आती हैं। इन्हें सबसे ज्यादा अपना ध्यान रखने की जरूरत है।

#2) सैनेटाइजर और साबुन में क्या फर्क पड़ता है?

वायरस के ऊपर की परत चिकनाई वाली होती है क्योंकि उसमें वसा होता है। जब हम साबुन से 20 सेकंड तक हाथ धोते हैं तो वायरस साबुन के जरिए बाहर निकल जाता है। लेकिन अगर आप किसी जगह हैं जहां साबुन-पानी उपलब्ध नहीं है तो सैनेटाइजर का प्रयोग करने की सलाह दी जाती है। इसलिए अगर बाहर जाते हैं और किसी वस्तु को या सब्जी-फल को हाथ से छूते हैं या किसी से कोई सामान लेते हैं तो आंख-नाक-मुंह पर हाथ लगाने से पहले साबुन-पानी या सैनेटाइजर से हाथ साफ करें।
#3) क्या बारिश में वायरस का संक्रमण बढ़ सकता है?
बारिश में सर्दी-खांसी होना सामान्य बात है, लेकिन कई ऐसे वायरस हैं जिनसे सर्दी, खांसी और जुकाम होता है। इसमें राइनोवायरस, इंफ्लूएंजा और ह्यूमन कोरोना भी शामिल हैं। कई ऐसे वायरस होते हैं जो गले तक पहुंच जाते हैं और खांसी-जुकाम हो जाता है। कोरोनावायरस के मामले में भी लक्षण दूसरे वायरस जैसे ही दिखते हैं। ऐेसे में सभी को बचाव करना जरूरी है। कोई भी लक्षण दिखने पर सीधे डॉक्टर से सम्पर्क करें।
#4) क्या कोरोना के कुछ नए लक्षण भी आए हैं, विदेशों में कई लोगों में लाल रंग के निशान दिख रहे हैं?
कई बार शरीर पर लाल रंग के निशान डायरिया, मिर्गी के दौरे या ब्रेन से जुड़ी समस्या के हो सकते हैं। लेकिन ऐसे मामले कम है। 90-95 फीसदी वायरस से संक्रमित लोगों को बुखार होता ही है। अगर ऐसे लक्षण आ रहे हैं तो उसके कई कारण हो सकते हैं।

#5) क्या यूरिन से भी वायरस का संक्रमण होता है

नहीं, ऐसे कोई प्रमाण अब तक नहीं मिले हैं कि किसी की यूरिन से वायरस का संक्रमण होता है। न ही किसी के ब्लड और खाने की चीज से संक्रमण फैलता है। अभी तक केवल संक्रमित के सम्पर्क में आने से ही संक्रमण फैलने के मामले सामने आए हैं। लेकिन किसी को पता नहीं कि किसके अंदर वायरस का संक्रमण है, इसलिए सावधानी रखें।

#6) लॉकडाउन में ढील से क्या नए रिस्क बढ़ सकते हैं, ऐसे में क्या सावधानी बरतें?

सरकार अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रही है लेकिन अब देश के नागरिक का काम है कि वे कैसे खुद को वायरस से दूर रखें और दूसरों को बचाएं। सरकार ने जो नियम बनाए हैं कि ऑटो में एक सवारी या कैब में दो सवारी ही बैठ सकती हैं। इन्हें निभाना हमारी जिम्मेदारी है। अगर कोई मास्क नहीं लगाता तो दूसरे लोग उसे पहनने के लिए कहें। दुकानदार भी ग्राहकों को बताएं कि इसे पहनना जरूरी है। ऑफिस जा रहे हैं तो ध्यान रखें कि हाथ नहीं मिलाना है। 
#7) क्या सब्जी को सैनेटाइजर से धो सकते हैं?
नहीं, फल, सब्जी को सैनेटाइजर से बिल्कुल न धोएं। इसे केवल नल के बहते पानी से धोएं या हल्का गर्म पानी उस पर डालें। सैनेटाइजर का प्रयोग केवल हाथ धोने के लिए करें। 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close