Sports News

जसप्रीत बुमराह की खतरनाक गेंदों का सामना करने के लिए बेताब है ये पाकिस्तानी बल्लेबाज



Image Source : GETTY
Shan Masood and Jasprit Bumrah

साल 2013 में आईपीएल में मुंबई इंडियंस की तरफ से कदम रखने वाले जसप्रीत बुमराह ने उसके बाद से पीछे कभी मुड़कर नहीं देखा। अपने अजीबो – गरीब एक्शन और सटीक लाइन एंड लेंथ के चलते इस तेज गेंदबाज ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में बहुत जल्द अपना दबदबा बनाया। जिसके चलते बुमराह इन दिनों टीम इंडिया के प्रमुख गेंदबाज माने जाते हैं। इतना ही नहीं वर्ल्ड क्रिकेट में कई बल्लेबाज बुमराह का सामना करने से घबराते भी हैं। हलांकि इसी बीच पाकिस्तान के बल्लेबाज शान मसूद का मानना है कि वो बुमराह का सामना करने के लिए बेताब हैं।  

पाकिस्तानी बल्लेबाज शान मसूद ने कहा है कि वो बुमराह की गेंदबाजी चुनौती स्वीकार करने के लिए बेताब हैं। एक इंटरव्यू में पाकिस्तानी बल्लेबाज से जब पूछा गया कि वो किस एक गेंदबाज का सामना करना पसंद करेंगे तो उन्होंने बुमराह का नाम लिया। मसूद ने कहा, “मुझे लगता है जब हम दुनिया के तेज गेंदबाजों के बारे में बात करते हैं तो मैंने अब तक कभी भी बुमराह के खिलाफ नहीं खेला है। यह एक चुनौती है जिसे मैं जरूर स्वीकार करना चाहूंगा।“

मसूद ने आगे कहा, “उन्होंने अब तक जिन गेंदबाजों का सामना किया उसमें बेस्ट मेरे पसंदीदा हमेशा ही डेल स्टेन है। ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस भी इस लिस्ट में आते हैं। अगर पिछले कुछ समय की बता करें मुझे रबाडा और एंडरसन का नाम भी लेना होगा क्योंकि उन्होंन भी मेरा विकेट हासिल किया है।”

जबकि सबसे मुश्किल गेंदबाज के बारे में उन्होंने कहा, “मुझे पैट कमिंस अब तक के सबसे ज्यादा मुश्किल गेंदबाज लगे हैं उन तमाम गेंदबाजों को जिनके सामने मैंने खेला है। आज वो टेस्ट रैंकिंग में दुनिया के नंबर एक गेंदबाज हैं। उनको मिले इस खिताब से ही सबकुछ साफ हो जाता है कि वो कितने अच्छे गेंदबाज हैं।”

ये भी पढ़े : मोहम्मद कैफ ने बताया, शायद धोनी को नजरअंदाज करने से खत्म हो गया उनका करियर

बता दें कि टीम इंडिया के लिए जसप्रीत बुमराह अभी तक महज 14 टेस्ट में 68 विकेट चटकाते हुए अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। वनडे में बुमराह ने 64 मैच में कुल 104 विकेट हासिल किए हैं और उनका औसत 24 से ज्यादा का है। टी20 में भी वहीं 50 विकेट लेने वाले भारत के पहले तेज गेंदबाज बने हैं।

कोरोना से जंग : Full Coverage



Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close