Sports News

बीसीसीआई की निगरानी सूची में पिछले 3-4 साल से है रविंदर दंदिवाल : एसीयू प्रमुख


फाइल फोटो

नई दिल्ली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ऐंटी करप्शन यूनिट (एसीयू) के प्रमुख अजित सिंह ने सोमवार को कहा कि हाल में पता चले अंतरराष्ट्रीय टेनिस मैच फिक्सिंग सिंडिकेट के कथित सरगना रविंदर दंदिवाल पिछले चार वर्षों से बीसीसीआई की निगरानी सूची में है। सिडनी मार्निंग हेराल्ड की एक रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में विक्टोरिया पुलिस ने टेनिस मैच स्कैंडल में दंदिवाल को मुख्य सरगना बताया है।

टेनिस मैच फिक्सिंग में 2018 में कम से कम मिस्र और ब्राजील में खेली गई दो प्रतियोगिताओं में कम रैकिंग के खिलाड़ियों को कथित तौर पर मैच हारने के लिए मनाया गया था। अजित सिंह ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘उस पर भ्रष्ट होने का संदेह है या फिर वह हमारी जानकारी में भ्रष्ट व्यक्ति है। मैं उसके (केवल) क्रिकेट संपर्कों के बारे में बात कर सकता हूं, लेकिन वह अन्य खेलों में भी घुस गया है।’

पढ़ें, विंडीज से सीरीज जीती, फिर भी कप्तानी छीनी: गावसकर

उन्होंने कहा, ‘उसने (दंदिवाल) अपनी खुद की लीग शुरू करने की कोशिश की और एक बार वह ऐसा कर लेता तो फिर वह जैसा चाहता उस तरह से मैच फिक्स कर लेता। उसने नेपाल में एशियाई प्रीमियर लीग का आयोजन किया और वह अफगान लीग से भी जुड़ा था।’

मैच फिक्सिंग के आरोपी संजीव चावला ने खटखटाया दिल्ली HC का दरवाजामैच फिक्सिंग के आरोपी संजीव चावला ने खटखटाया दिल्ली HC का दरवाजामैच-फिक्सिंग कांड के मुख्य आरोपी संजीव चावला ने शुक्रवार को दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और अपनी 12 दिन की रिमांड को चुनौती दी है। संजीव चावला क्रिकेट के सबसे बड़े मैच फिक्सिंग घोटालों में से एक मुख्य आरोपी है। मैच-फिक्सिंग कांड में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोन्ये भी शामिल थे। एक ट्रायल कोर्ट ने गुरुवार को चावला को 12 दिन की पुलिस हिरासत में पूछताछ के लिए भेजा था। इस मामले की आगे जांच होनी है, जिसके लिए संजीव चावला को देशभर के विभिन्न शहरों में ले जाना है।

अजित ने बताया कि उसने हरियाणा में लीग के आयोजन का प्रयास किया जिसे बीसीसीआई ने विफल कर दिया। इसलिए वह भारत के बजाय भारत के बाहर अधिक सक्रिय हो गया लेकिन वह पिछले कम से कम तीन-चार वर्षों से बीसीसीआई की निगरानी सूची में है।

दंदिवाल मोहाली का रहने वाला है और एसीयू की शैक्षिक नियमावली में भी उसका जिक्र है। अजित सिंह ने कहा, ‘बीसीसीआई ने भी उसके खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वह अलग तरह का अपराध था। वह एक क्रिकेट टीम को लेकर ऑस्ट्रेलिया गया और वहां 5-6 खिलाड़ी लापता हो गए। यह आव्रजन से जुड़ा मामला था।’

रविवार को इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हुई पाक टीम

  • रविवार को इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हुई पाक टीम

    पाकिस्तान क्रिकेट टीम रविवार को इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो गई। टीम के साथ 20 खिलाड़ी और 11 सपॉर्ट स्टाफ सदस्य हैं। इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच ‘जैव-सुरक्षित’ माहौल में तीन टेस्ट और तीन टी-20 इंटरनैशनल मैचों की सीरीज खेली जानी है।

  • पीसीबी ने कर दी बड़ी गलती

    पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की इस ट्विटर पोस्ट पर एक बड़ी गलती हो गई जिसमें देश का नाम की स्पेलिंग ही गलत लिख दी। हालांकि बाद में इस ट्वीट को हटा लिया गया, लेकिन तब तक ट्रोलर्स ने निशाने पर आ गया।

  • पीसीबी की इस गलती को  किया नोटिस, फिर जमकर ट्रोल
  • खूब उड़ाया मजाक
  • यूजर्स बोले- शर्म करो
  • बाद में ट्वीट डिलीट कर दोबारा किया
  • आईसीसी ने टीम के पहुंचने की जानकारी

उन्होंने कहा, ‘इसलिए ऑस्ट्रेलिया के मेजबान क्लब ने संबंधित अधिकारियों से संपर्क किया और हमें जानकारी दी। हम मोहाली में पुलिस के पास गए और उन्हें बताया कि उसने क्या किया और रिपोर्ट दर्ज कराई। वह हमारी शिक्षा नियमावली का भी हिस्सा है। हम भागीदारों को उसके बारे में बताते हैं ओर उसकी तस्वीर दिखाकर उसके काम करने के तरीके के बारे में समझाते हैं।’

एसीयू प्रमुख ने फिर से दोहराया कि भारत में मैच फिक्सिंग कानून की सख्त जरूरत है क्योंकि अभी संबंधित एजेंसियों के हाथ बंधे हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘मैच फिक्सिंग के लिए कानून की जरूरत है। इससे संबंधित एजेंसियों को मजबूती मिलेगी और एक बार वे प्रभावशाली कार्रवाई करना शुरू कर देंगे, इससे बोर्ड को मदद मिलेगी।’

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close