Business News

सरकार द्वारा Chinese Apps पर प्रतिबंद के बाद Telecom Companies उठाएंगी बड़ा कदम


  • मीडिया रिपोर्ट के अनुसार Telecom Companies बैन Apps की IP पर लगा सकती हैं रोक
  • सरकार के आदेश के बाद Telecom Companies सभी 59 Chinese App पर लगा सकती हैं रोक

नई दिल्ली। टिकटॉक समेत सभी 59 ऐप पर प्रतिबंद ( 59 Chinese App Banned in India ) लगा दिया है। टिकटॉक ( Tiktok ) तो गूगल और एपल दोनों प्ले स्टोर से हटा दिए गए हैं। अब देश की टेलीकॉम कंपनियां ( Telecom Companies ) भी इन चीनी ऐप ( Chinese App ) के खिलाफ बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही है। बस उन्हें केंद्र सरकार ( Government of India ) के आदेश का इंतजार है। वास्तव में टेलीकॉम कंपनियों के पास ऐसी तकनीक है कि जिस कंट्रोल ऐप से जुड़े डाटा को ट्रांसफर होने से रोक देगी। आइए आपको भी बताते हैं कि टेलीकॉम कंपनियां किस तरह की तैयारी कर रही हैं।

Europe और London के मुकाबले India में लोगों को मिल रही है ज्यादा Jobs, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

अब टेलीकॉम लगाएंगी चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अब टेलीकॉम कंपनियां भी इन सभी ऐप्स पर रोक लगाने की तैयारी कर रही हैं। ये कंपनियां सरकार के आदेश का इंतजार कर रही हैं। आदेश मिलते हीे कंपनियां एक्शन मोड पर आ जाएंगी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार टेलीकॉम कंपनियां इन ऐप्स को रोकने के लिए बिल्कुल वैसा ही स्टेप लेंगी जैसा किसी वेबसाइट को रोकने के लिए लिया जाता है। इन भी ऐप्स के लिंक और इनसे जुड़े डाटा को रोक दिया जाएगा।

Google और Apple Store से हटने के बाद Tiktok ने दी सफाई, China के साथ नहीं कर रहे हैं Data Share

टेक्रोलॉजी है मौजूद
टेलीकॉम कंपनियों की माने तो उनके पास वो तमाम तकनीक मौजूद है जिससे किसी भी ऐप को रोक जा सकता है। इसके लिए ऐप के आईपी पर रोक लगाने की जरुरत होती है। एप अपनेे आप डीएक्टवट हो जाता है। आपको बता देंं कि एलएसी को लेकर चीन और भारत के बीच काफी टंशन चल रही हैं। जिसकी वजह से दोनों देशों के बीच काफी तनातनी बढ़ गई है। यही वजह है कि केंद्र सरकार चीन की इकोनॉमी से जुड़ी चीजों पर प्रहार कर रहा है।

Chinese App को Search और Replace करने में यह App करेगा मदद, बस पांच स्टेप्स में हो जाएगा काम













Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close