Business News

सावधानी के साथ लॉकडाउन के बाद शुरू होंगी उड़ानें, टर्मिनल में होगी कॉन्टेक्टलेस एंट्री


बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Wed, 06 May 2020 11:52 AM IST

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए देश में 25 मार्च से लॉकडाउन है। इसकी वजह से देश में घरेलू हवाई सेवाएं भी बंद हैं। लेकिन लॉकडाउन के बाद इन्हें फिर से शुरू करने के लिए देश के विभिन्न एयरपोर्ट अथॉरिटी तैयारियों में जुटे हैं। 

एयरपोर्ट और हवाई यात्रा से वायरस का संक्रमण न फैले, इसके लिए एक विस्तृत रोडमैप तैयार किया जा रहा है। दिल्ली एयरपोर्ट की संचालक संस्था दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड, हैदराबाद की राजीव गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट सहित अन्य एयरपोर्ट ने संक्रमण रोकने के लिए प्लान तैयार किया है। 

हाल ही में दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के अधिकारी ने जानकारी दी थी कि भीड़भाड़ से बचने के लिए प्रवेश द्वार पर स्वचालित चेक-इन मशीनें एयरलाइन को उपल्बध कराई जाएंगी। 

दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डीआईएएल) के अनुसार, हवाई अड्डे पर भीड़भाड़ से बचने के लिए सभी खाद्य, पेय और खुदरा दुकानें खुली रहेंगी और यात्रियों के सामान के लिए कीटाणुनाशक सुरंग बनाई जाएगी। 

भारत में एयरपोर्ट पर उन पॉइंट्स की पहचान की जा रही है, जहां पर एयरपोर्ट कर्मी, यात्री और उनकी सहूलियतों से जुड़ी चीजें एक-दूसरे के संपर्क में आते हैं। इससे उनको डिसइन्फेक्ट करने के साथ ही कोरोना के संक्रमण से काफी हद तक बचा जा सकता है। इसके लिए टर्मिनल में प्रवेश के लिए कॉन्टेक्टलेस सिस्टम बनाया गया है, जिससे यात्री एक दूसरे के संपर्क में नहीं आएंगे। 

अन्य जरूरी कदमों के तहत फोरकोर्ट एरिया में एक डिसइन्फेक्टेंट टनल बनाई गई है। ऐसा इसलिए क्योंकि एयरपोर्ट पहुंचने के बाद यात्री सबसे पहले बैगेज ट्राली के संपर्क में आते हैं। लिहाजा, सबसे पहले ट्रॉली के हैंडल से संक्रमण एक यात्री से दूसरे में फैलने की आशंका होती है। यात्रियों के चेक-इन के लिए भी अलग-अलग गेट नंबर निर्धानित किए जाएंगे।

कोरोना वायरस के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए देश में 25 मार्च से लॉकडाउन है। इसकी वजह से देश में घरेलू हवाई सेवाएं भी बंद हैं। लेकिन लॉकडाउन के बाद इन्हें फिर से शुरू करने के लिए देश के विभिन्न एयरपोर्ट अथॉरिटी तैयारियों में जुटे हैं। 

एयरपोर्ट और हवाई यात्रा से वायरस का संक्रमण न फैले, इसके लिए एक विस्तृत रोडमैप तैयार किया जा रहा है। दिल्ली एयरपोर्ट की संचालक संस्था दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड, हैदराबाद की राजीव गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट सहित अन्य एयरपोर्ट ने संक्रमण रोकने के लिए प्लान तैयार किया है। 

हाल ही में दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के अधिकारी ने जानकारी दी थी कि भीड़भाड़ से बचने के लिए प्रवेश द्वार पर स्वचालित चेक-इन मशीनें एयरलाइन को उपल्बध कराई जाएंगी। 

दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डीआईएएल) के अनुसार, हवाई अड्डे पर भीड़भाड़ से बचने के लिए सभी खाद्य, पेय और खुदरा दुकानें खुली रहेंगी और यात्रियों के सामान के लिए कीटाणुनाशक सुरंग बनाई जाएगी। 

भारत में एयरपोर्ट पर उन पॉइंट्स की पहचान की जा रही है, जहां पर एयरपोर्ट कर्मी, यात्री और उनकी सहूलियतों से जुड़ी चीजें एक-दूसरे के संपर्क में आते हैं। इससे उनको डिसइन्फेक्ट करने के साथ ही कोरोना के संक्रमण से काफी हद तक बचा जा सकता है। इसके लिए टर्मिनल में प्रवेश के लिए कॉन्टेक्टलेस सिस्टम बनाया गया है, जिससे यात्री एक दूसरे के संपर्क में नहीं आएंगे। 

अन्य जरूरी कदमों के तहत फोरकोर्ट एरिया में एक डिसइन्फेक्टेंट टनल बनाई गई है। ऐसा इसलिए क्योंकि एयरपोर्ट पहुंचने के बाद यात्री सबसे पहले बैगेज ट्राली के संपर्क में आते हैं। लिहाजा, सबसे पहले ट्रॉली के हैंडल से संक्रमण एक यात्री से दूसरे में फैलने की आशंका होती है। यात्रियों के चेक-इन के लिए भी अलग-अलग गेट नंबर निर्धानित किए जाएंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close