Sports News

27 साल पहले Shane Warne ने फेंकी थी Ball of the Century, देखें Video


ऑस्ट्रेलिया के महान लेग स्पिनर Shane Warne ने 27 साल पहले आज ही के दिन 4 जून को वह करिश्माई गेंद Ball of the Century डाली थी।

नई दिल्ली : विश्व क्रिकेट के महानतम लेग स्पिनर में से एक ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉर्न (Shane Warne) ने 27 साल पहले आज ही के दिन 4 जून को एक ऐसी गेंद डाली थी, जिसने न सिर्फ क्रिकेट दिग्गजों समेत पूरी दुनिया के क्रिकेट प्रशंसकों को हैरान कर दिया था, बल्कि इसके बाद कलाइयों के जादूगर शेन वॉर्न की जिंदगी भी बदल गई थी। इस बात को खुद वॉर्न भी स्वीकार करते हैं। बात 1993 में खेली गई एशेज सीरीज की है। इस सीरीज के एक टेस्ट मैच में वॉर्न ने वह करिश्माई गेंद डाली थी, जिसे क्रिकेट पंडित ‘शताब्दी की सर्वश्रेष्ठ गेंद’ (Ball of the Century) मानते हैं। आईसीसी (ICC) ने वॉर्न की इस गेंद का वीडियो ट्वीट कर इसे याद किया है।

 

Suresh Raina बोले, अलग तरीके से IPL की तैयारी कर रहे थे Mahendra Singh Dhoni, बताया क्या था खास

जादुई गेंद पर माइक गैटिंग को किया बोल्ड

शेन वॉर्न ने 4 जून 1993 को एशेज सीरीज में इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेले गए टेस्ट मैच में इंग्लैंड के दिग्गज बल्लेबाज माइक गैटिंग (Mike Gatting) को जिस गेंद पर बोल्ड किया था, वह गेंद करीब करीब 90 डिग्री के एंगल पर घूमी थी। इसे देखकर सभी दंग रह गए थे। शेन वॉर्न की यह गेंद लेग स्टंप के काफी बाहर पिच हुई थी और ऐसा लग रहा था कि यह गेंद बहुत ज्यादा वाइड है। इस कारण माइक गैटिंग ने इस गेंद को खेलने का प्रयास भी नहीं किया। इस बीच गेंद वहां से जबरदस्त तेजी से टर्न हुई और गैटिंग को चकमा देते हुए उनके पैर के पीछे से निकल कर ऑफ स्टंप पर जा लगी। इस गेंद पर न सिर्फ पूरी दुनिया, बल्कि खुद शेन वॉर्न भी हैरान हो गए थे। वर्षों बाद उन्होंने ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ का राज खोला था।

वॉर्न बोले, कल्पना भी नहीं की थी

शेन वॉर्न ने वर्षों बाद अपनी इस गेंद के बारे में बात करते हुए कहा था कि यह गेंद उनके लिए भी आश्चर्यजनक थी। उन्होंने इस बात की कल्पना भी नहीं की थी कि गेंद इतनी घूमेगी। इसके आगे उन्होंने यह भी कहा था कि और न वह कभी इसे दोहरा सकते हैं। वॉर्न ने बताया था कि एक लेग स्पिनर के तौर पर आप हमेशा बेहतर लेग ब्रेक गेंद डालने के बारे में सोचते हैं। उन्होंने भी ठीक उसी तरह की गेंद डालने की कोशिश की थी, लेकिन गेंद 90 डिग्री के एंगल तक घूम गई। वह सच में अजूबा था।

वॉर्न को ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ डालने का है गर्व

शेन वॉर्न ने इस बारे में और बातें करते हुए कहा था कि ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ बिल्कुल वैसी ही गेंद थी, जो सभी लेग स्पिन गेंदबाज डालने की कोशिश करते हैं। इसके आगे उन्होंने कहा कि लेकिन इस एक गेंद ने मैदान के अंदर और बाहर उनकी जिंदगी बदल कर रख दी। वॉर्न ने कहा कि उन्हें इस बात पर बहुत गर्व है कि उन्होंने ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ डाली थी, वह भी एक ऐसे बल्लेबाज माइक गैटिंग के खिलाफ, जिसे स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ शानदार बल्लेबाज माना जाता है।

Irfan Pathan ने Mohammad Kaif की ली चुटकी, बोले- तो क्या हम चने बेच रहे थे, दादा को भी नहीं बख्शा

महानतम स्पिनरों में होती है वॉर्न की गिनती

शेन वॉर्न की गिनती विश्व के महानतम स्पिनरों में होती है। उन्होंने 1992 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था और एक साल बीतते-बीतते उन्होंने ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ फेंकी। इससे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनका कद काफी ऊंचा हो गया और बल्लेबाज उनसे खौफ खाने लगे थे। वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज हैं, उन्होंने 145 टेस्ट मैच में 708 विकेट लिए हैं। एक पारी में उन्होंने 37 बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिए हैं, जबकि टेस्ट मैच में 10 बार 10 या इससे अधिक विकेट लेने का कारनामा किया है। वॉर्न न सिर्फ टेस्ट में, बल्कि एकदिवसीय क्रिकेट में भी काफी कामयाब रहे। उन्होंने 194 वनडे मैचों में 293 विकेट लिए हैं। वॉर्न ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच 2007 में खेला।












Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close