Business News

Atal Pension Yojana में इस महीने किस्त कटनी शुरू, 5000 रुपए पेंशन योजना में निवेश की है शर्तें


  • ATAL Pension Yojana में अब नहीं मिलेगी राहत
  • हर महीने देनी होगी किस्त
  • कोरोना की वजह से PFRDA ने दी थी 30 जून तक की छूट
  • अनऑर्गेनाइज्ड सेक्टर ( UNORGANISED SECTOR ) में काम करने वाले लोगों के लिए सरकार ने अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna) निकाली थी

नई दिल्ली: ‘अटल पेंशन योजना’ ( Atal Pension Yojana ) में ऑटो डेबिट से छूट की मियाद 30 जून को खत्म हो गई है। जिसका मतलब है कि जुलाई से इस योजना में निवेश करने वालों के अकाउंट से ऑटो डेबिट एक बार फिर से शुरू हो जाएगा। सरकार ने जून तक के लिए इस योजना की ऑटो डेबिट की शर्त खत्म( CHANGES IN ATAL PENSION YOJANA ) कर दी थी क्योंकि इस योजना के तहत लाभ उठाने वाले ज्यादातर लोग निचले और असंगठित क्षेत्र से जुड़े हुए हैं। अब इस महीने यानि जुलाई से इस योजना के खाताधारकों से इस योजना के लिए जाने वाली किस्त एक बार फिर से कटनी शुरू हो जाएगी ।

इमरजेंसी में कार भी कर सकती है पैसे का जुगाड़, बिना गारंटी के मिल जाता है लोन

‘पेंशन फंड रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी’ (PFRDA) ने अप्रैल में बैंकों को APY के तहत 30 जून तक पैसा न काटने का निर्देश दिया था। अब PFRDA ने 1 जुलाई से ऑटो डेबिट शुरू करने का निर्देश दिया है, इस स्कीम के सब्सक्राइबर्स को मेल के जरिए यह बात बताई गई है।

कम आय वाले ( LIG ) और अनऑर्गेनाइज्ड सेक्टर ( UNORGANISED SECTOR ) में काम करने वाले लोगों के लिए सरकार ने अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna) निकाली थी। वैसे तो Atal Pension Yojna ( APY) के तहत किसी भी इंसान को मैक्सिमम 5000 रुपये मंथली यानी 60 हजार रुपये सालाना ही मिल सकते है।

लेकिन किसी को भी इस योजना में निवेश करने के लिए कुछ मानकों पर खरे उतरना होता है । यानि अगर आप उन शर्तों को पूरा नहीं कर पाते हैं तो आपको इन स्कीम का फायदा नहीं मिल सकता है।

कौन नहीं कर सकता है निवेश ( Eligibility for APY ) – सवाल उठता है कि अगर सभी भारतीय इसमें निवेश कर सकते हैं तो आखिर कौन इसके दायरे से बाहर है। तो इस योजना की पहली शर्त है कि आप इनकम टैक्स के दायरे से बाहर होने चाहिए । जी हां ! ऐसे लोग जो इनकम टैक्स के दायरे में आते हैं उन्हें इस योजना में शामिल नहीं किया जा सकता है।







Show More













Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close