World News

Corona महामारी के बीच दुनियाभर में मनाया गया Eid-ul-Azha, मस्जिदों में पसरा रहा सन्नाटा


नई दिल्ली। पूरी दुनिया कोरोना संक्रमण ( Coronavirus Infection ) से जूझ रही है और इस कोरोना महामारी ( Coronavirus Epidemic ) के बीच दुनियाभर में शनिवार को मस्लिम समुदाय के लोगों ने ईद-उल-अजहा ( Eid Ul Azha 2020 ) का त्यौहार मनाया। हालांकि कोरोना के कारण हर साल की तरह इस बार ईद का उत्सव फीका रहा।

बता दें कि सऊदी अरब ( Saudi Arabia ) स्थित मुस्लिमों के सबसे पवित्र स्थल मक्का ( Makka ) में हज के अंतिम दिनों के साथ ही ईद-उल-अजहा का ये त्यौहार मनाया जा रहा है। यह त्यौहार चार दिनों तक मनाया जाता है। इस त्यौहार में मुसलमान पशुओं की कुर्बानी देते हैं और अल्लाह के सामने खुशियां व बरकत की इबादत करते हैं।

ईद उल फितर में सामूहिक नमाज के लिए ईदगाहो को खोलने के मामले में हस्तक्षेप से इंकार

पूरी दुनिया में मुस्लिमों ने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अपने-अपने घरों में रहकर ही ईद का ये पवित्र त्यौहार मनाया। दुनियाभर की मस्जिदों में सन्नाटा ( Silence in Mosques ) छाया रहा। कुछ ही लोग मस्जिदों में पहुंचे और नमाज अदा की। लेकिन कई देशों में लॉकडाउन ( Lockdown ) लागू होने के कारण कई देशों में मस्जिदें बंद रही।

इन देशों में ऐसे मनाया गया ईद

इराक की राजधानी बगदाद ( Baghdad ) में कोरोना के कारण दस दिन का लॉकडाउन लागू है। लिहाजा मस्जिदों में नमाज पढ़ने की मनाही है। ऐसे में ईद के इस मौके पर सड़कें सूनी दिखाई दी। लोगों को उम्मीद थी कि ईद के मौके पर कर्फ्यू हटा लिया जाएगा।

कोसोवो और संयुक्त अरब अमीरात ( UAE ) में कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर मस्जिदों को बंद रखा गया। जिसके कारण लोग अपने-अपने घरों में ईद मनाने को विवश दिखाई दिए। कई देशों में मस्जिदों में लोग नमाज पढ़ते भी दिखाई दिए।

बकरीद पर अच्छी बारिश की कामना के साथ मांगी अमन और चैन की दुआएं, हुई कुर्बानी की रस्म

लेबनान में आंशिक तौर पर लॉकडाउन में ढ़ील दी गई और कड़ी सुरक्षा के बीच लोगों ने मस्जिदों में नमाज पढ़ी। बेरूत की मोहम्मद अल-अमीन मस्जिद ( Mohammed Al-Amin Mosque ) में सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोगों ने नमाज पढ़ी। सोशल डिस्टेंसिंग ( Social Distancing ) के कारण नमाजियों की कतार मस्जिद से बाहर सड़क तक दिखाई दी।

इंडोनेशिया ( Indonesia ) में भी ईद के इस मौके पर मस्जिदों में कड़े दिशा निर्देशों के बीच लोगों ने नमाज पढ़ी। हालांकि लंबी कतारों से बचने के लिए अधिकारियों ने निर्देश दिया कि घर-घर जाकर कुर्बानी दिए गए पशु के मांस को पहुंचाया जाए। अमरीका में भी सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए मस्जिदों में नमाज पढ़ी गई।

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ( President of Pakistan Arif Alvi ) और प्रधानमंत्री इमरान खान ( PM Imran Khan ) ने शनिवार को राष्ट्र से आग्रह किया कि वह कोरोना को फैलने से रोकने के प्रयास में ईद अल-अजहा के अवसर पर एहतियाती उपायों का कड़ाई से पालन करें।













Source link

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close